राजस्थान वित्त निगम का 65 वां स्थापना दिवस समारोह

0
31

जयपुर। मुख्य सचिव डी. बी गुप्ता ने कहा कि राजस्थान वित्त निगम प्रतिस्पर्धा के वर्तमान दौर में नवाचारों को अपनाने के लिए आवश्यक कदम उठाए जिससे राजस्थान आर्थिक विकास की दिशा में उत्तरोतर वृद्वि कर सकें।65th Foundation Day Celebration of Rajasthan Finance Corporation - Jaipur News in Hindiगुप्ता बुधवार को ओटीएस में राजस्थान वित्त निगम के 65 वें स्थापना दिवस समारोह को मुख्य अतिथि के तौर पर संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सूक्ष्म, लघु तथा मध्यम उद्योगों को टर्म लोन, सॉफ्ट लॉन सहित विभिन्न ऋणों की आवश्यकता रहती है, इन्हीं आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए राजस्थान वित्त निगम का गठन किया गया था।

इस दिन रिलीज होगा ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’ का ट्रेलर, पोस्टर ने मचाया हंगामा

उन्होंने कहा कि निगम का यह प्रयास रहना चाहिए कि कैसे नया उद्यमी पनपें, उसे समय पर ऋण मिलें तथा पुराने उद्यमी को विस्तार की सुविधा मिल सके। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ वर्षों से निगम हानि की स्थिति से उबर कर लाभ की स्थिति में आ चुका है तथा इस सफर में मूल्यों, मानक, ग्राहक सेवा तथा बदलने का प्रयास भी समय- समय पर किया गया है। अपने उद्बोधन में गुप्ता ने कहा कि स्टार्ट- अप नीति में ऋण, बीमार औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करना तथा पुरानी योजनाओं को विस्तार करने में भी निगम की अहम भूमिका रहती है।गुप्ता ने बताया कि निगम को सेवा क्षेत्र, महिलाओं तथा अनुसूचित जाति एवं जनजाति को ऋण देने में प्राथमिकता देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सिंगल विन्डो कानून के माध्यम से उद्यमी अपनी सभी समस्याओं का हल एक ही जगह पर प्राप्त कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि निगम को औद्योगिक ऋणों में वन टाइम सेटलमेंट की दिशा में कार्य करना चाहिए साथ ही नियमों को व्यवहारिक भी बनाना चाहिए।

पेट्रोल हुआ सस्ता, डीजल की कीमतें रही स्थिर

कार्यकम में अतिरिक्त मुख्य सचिव, वित्त तथा निगम के अध्यक्ष निरंजन कुमार आर्य ने बताया कि निगम को व्यापारी की अपेक्षाओं तथा निगम की सीमाओं मे सन्तुलन करके आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि राजस्थान में उद्योगों को बढ़ाने तथा आर्थिक विकास की यात्रा में निगम की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। प्रदेश को एक ऎसे तन्त्र की आवश्यकता है जो व्यापारियों के लिए उचित हो तथा सरकार के लिए सुरक्षित हो।

————————————————————————-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...