कुंभ में फिर लगी भयानक आग

0
38

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में चल रहे कुंभ में एक बार फिर टेंट में आग लग गई है। इस हादसे में बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन बाल-बाल बच गए। मंगलवार देर रात लालजी टंडन अपने टेंट में गहरी नींद में सो रहे थे तभी अचानक यह हादसा हुआ। ये आग देर रात करीब ढाई बजे लगी जो सेक्टर बीस के अरैल इलाके में बने त्रिवेणी टेंट सिटी में था। हादसे में लाल जी टंडन को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

मुझसे नहीं, राहुल गांधी से है PM मोदी का मुकाबला : प्रियंका गांधी वाड्रा

गहरी नींद में सो रहे टंडन का मोबाइल, चश्मा, घड़ी व दूसरे सामान जल गए। बिजली के शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका जताई जा रही है। इस हादसे में किसी को कोई नुकसान पहुंचने की सूचना नहीं हैं। बता दें, इससे पहले 10 फरवरी को सेक्टर 13 के दंडी बाड़ा नगर के डंग जी भूरा मठ में आग लग गई थी। आग से मठ के चार कैंप जलकर राख हो गए थे। इससे पहले 5 फरवरी को कुंभ मेला क्षेत्र के सेक्टर 15 में स्थित नाथ संप्रदाय के शिविर में मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे दो शिविरों में आग लग गई थी।

इस लड़की का मिनटों में हो जाता है शरीर गीला,दिन भर में कई बार करती है ऐसा

आग में सीएम योगी के रुकने के लिए बनाए गए दोनों महाराजा टेंट जलकर राख हो गए थे। आग से लाखों का नुकसान हुआ है। जिसमें आग लगी वो योगी महासभा का पंडाल ओल्ड जीटी रोड पर बनाया गया था। उससे पहले पहले 19 जनवरी को मेला क्षेत्र के सेक्टर 13 में बने प्रयागवाल सभा के पंडाल में आग लग गई थी। गनीमत ये रही कि इस हादसे में किसी को कोई नुकसान नहीं पहुंचा। उससे पहले 16 जनवरी को स्वामी वासुदेवानंद के शिविर में आग लगी थी।

शेयर बाजार : तिमाही नतीजे, आर्थिक आंकड़े तय करेंगे चाल

शिविर में उस समय भंडारा चल रहा था। आग लगने से भंडारे का टेंट जलकर राख हो गया था। उससे पहले 14 जनवरी को दिगंबर अखाड़े में आग लग गई थी। आग लगने से लाखों रूपये का सामान जलकर राख हो गया। आग इतनी जबरदस्त थी कि उसने फायर ब्रिगेड की टीमों के पहुंचने से पहले जबरदस्त तबाही मचाई। फायर ब्रिगेड की आधा दर्जन से ज्यादा दमकलों ने सेना और एनडीआरएफ की मदद से करीब आधे घंटे बाद आग पर काबू पाय लिया। आग से छावनी में लगे करीब दर्जन भर कैंप, उसमें रखे तमाम सामान और एक कार पूरी तरह जलाकर राख हो गए थे।

———————————————————————————–

  • 2
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...