भेड़ के मांस की जगह दिया बीफ, युवक ने शुद्धि करवाने के लिए मांगा भारत जाने का खर्च

0
28

ऑकलैंड. न्यूजीलैंड के साउथ आइलैंड में रहने वाले जसविंदर पाल ने एक सुपरमार्केट से हर्जाने के तौर पर भारत आने-जाने का खर्चा मांगा है। उनका आरोप है कि सिंतबर में उन्होंने ब्लेनहाइम काउंटडाउन मार्केट से लैंब मीट (भेड़ का मांस) खरीदा था। लेकिन उसे खाने के बाद पता चला कि बीफ (गाेवंश का मांस) दे दिया गया। जसविंदर का कहना है कि अब वह भारत जाकर संतों से शुद्धि कराना चाहते हैं।

शुद्धि में लगेंगे 4 से 6 हफ्ते

न्यूजीलैंड की ‘स्टफ’ वेबसाइट से बातचीत में जसविंदर ने बताया कि हिंदू धर्म में गाय को एक पवित्र पशु माना गया है। इन्हें मारना पाप होता है। जसविंदर के मुताबिक, जबसे उन्होंने गाय का मांस खाया है, तभी से परिवार उनसे बात नहीं कर रहा। इसलिए वे भारत जाकर चार-छह हफ्तों में शुद्धि करा के धर्म के मार्ग पर लौटना चाहते हैं।

जसविंदर का कहना है कि जब उन्हें धोखे का अहसास हुआ तो वे सुपरमार्केट हर्जाना मांगने पहुंचे। हालांकि, वहां कर्मचारियों ने उनसे माफी मांगते हुए 200 डॉलर (करीब 14 हजार रुपए) का एक गिफ्ट वाउचर ऑफर किया। लेकिन जसविंदर ने इसे लेने से इनकार करते हुए भारत आने-जाने की फ्लाइट का खर्च मांग लिया।

इसके बाद जसविंदर पिछले पांच महीने से इस कोशिश में हैं कि सुपरमार्केट उन्हें हर्जाना दे दे। हालांकि, कई कोशिशों के बाद अब वे कोर्ट के जरिए हर्जाना वसूलना जाना चाहते हैं। जसविंदर का कहना है कि उनका एक छोटा बिजनेस है, ऐसे में भारत जाने के लिए उन्हें कमाई का एक बड़ा हिस्सा खर्च करना पड़ेगा। हालांकि, वह एक बड़ी कंपनी के खिलाफ मामले को आगे नहीं घसीटना चाहते, लेकिन और कोई विकल्प नहीं है।

मुंबई और गोवा के मुकाबले में तय होगा ISL का दुसरा फाइनलिस्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...