ग्रामीण इलाकों में 50% घटी गोल्ड की डिमांड

0
82

गोल्ड की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ ही रूरल इंडिया से इसकी डिमांड में मध्य दिसंबर के बाद से 50 पर्सेंट की कमी आई है। इसके पीछे कीमतों में बढ़ोतरी के अलावा कृषि समुदाय के पास कैश की कमी को भी मुख्य वजह के रूप में देखा जा रहा है। देश में गोल्ड की कुल सालाना खपत में 60 पर्सेंट हिस्सा कृषि समुदाय का है। मांग में इस कमी के चलते डीलर्स इस हफ्ते 10 से 12 डॉलर प्रति औंस के डिस्काउंट पर गोल्ड को ऑफर कर रहे हैं। पिछले हफ्ते यह डिस्काउंट 8 डॉलर प्रति औंस था।

सऊदी अरब: पत्नी को जानकारी दिए बिना नहीं ले सकते तलाक

बुलियन फेडरेशन के सेक्रेटरी हरेश आचार्य ने बताया ‘देश के ग्रामीण हिस्सों में गोल्ड की काफी कम मांग है। आमतौर पर पूरे देश में गोल्ड की रोजाना 250 से 300 किलोग्राम की खपत होती है, लेकिन अब यह कम होकर 50 से 100 किलोग्राम रह गया है। कैश की किल्लत डिमांड को प्रभावित कर रही है।’
देश के ग्रामीण हिस्सों के ज्वैलर्स ने गोल्ड सेल्स की गिरावट को लेकर नाखुशी जाहिर की है। मध्य प्रदेश में सतना जिले के गोल्ड मर्चेंट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट रवि शंकर गौरी ने बताया ‘किसानों के हाथ में कोई बचत पूंजी नहीं है। उन्होंने एसेट्स बनाने के लिए गोल्ड में निवेश करना बंद कर दिया है। जो थोड़ी बहुत खरीदारी इस समय देखने को मिली है, वह अगले मैरिज सीजन में होने वाली मांग को पूरा करने के लिए है।’

पिंकसिटी को अपराध मुक्त बनाने पर रहेगा फोकस,पुलिस आयुक्त दित्तीय अजयपाल लांबा से खास मुलाकात

यूपी में बरेली जिले के सर्राफा एसोसिएशन के राजकुमार अग्रवाल ने भी गौरी की बातों से सहमति जताई। उन्होंने कहा ‘गोल्ड की मांग काफी गिर गई है। किसानों के हाथ में पैसा नहीं है। इसलिए वे गोल्ड में निवेश करने से बच रहे हैं। सरकार ने फसलों के लिए मिनिमम सपोर्ट प्राइस को तो जरूर बढ़ा दिया है लेकिन किसानों सही दाम नहीं मिलने की शिकायत कर रहे हैं। जब तक कैश फ्लो बेहतर नहीं होता है, तब तक हमें गोल्ड की मांग में बढ़ोतरी की उम्मीद नहीं है।’

FY19 में GDP ग्रोथ तीन साल में सबसे तेज रहेगी

देश के ग्रामीण हिस्सों में गोल्ड को एक अहम संपत्ति माना जाता है। देश में गोल्ड की सालाना 800 -850 टन की खपत होती है, जिसमें से करीब 60 पर्सेंट कृषि समुदाय खरीदता है। सोमवार को डॉलर के कमजोर होने की आशंका से गोल्ड के दाम बढ़ोतरी देखने को मिली। स्पॉट गोल्ड 0.4 पर्सेंट बढ़कर 1,290.42 डॉलर प्रति औंस पहुंच गया है। भारतीय मार्केट में गोल्ड की कीमत (जीएसटी के बिना) 31,800 रुपये प्रति 10 ग्राम के आस-पास है। कोटक महिंद्रा बैंक में ग्लोबल ट्रांजैक्शन बैंकिंग और प्रेशियस मेटल्स के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और बिजनेस हेड, शेखर भंडारी ने बताया ‘अमेरिका और चीन के बीच ट्रेड वॉर से 2019 में व्यापार के लिए चुनौतियां बढ़ेंगी। 2019 में गोल्ड के दाम में 10 से 12 पर्सेंट का उछाल आ सकता है।’

गूगल ने ऐसे स्वागत किया नए साल का

———————————————————————————–

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...