हनीट्रैप गिरोह का पर्दाफाश, जाल में फंसाकर लूटती है महिलाएं

0
51

दिन पहले उसके मोबाइल पर एक अंजान नंबर से एक लड़की की कॉल आई थी। इसके बाद दोनों में दोस्ती हो गई। कारोबारी एक दोस्त के साथ लड़की से मिलने राजौरी गार्डन पहुंचे। वहां उन्हें दो युवतियां मिलीं। दोनों युवतियां दोनों को सुभाष पार्क स्थित एक घर पर पहुंची और उनके कपड़े उतरवा दिए। इसी दौरान चार महिलाएं और दो युवक वहां आ गए और मारपीट करने लगे। आरोपियों ने पीड़त को दुष्कर्म में फंसाने की धमकी देकर 20 लाख रुपये की मांग की। सात लाख रुपये में बात तय हुई।

पहले भी हुए खुलासे-
10 अप्रैल 2019: द्वारका इसके से दिल्ली पुलिस का पूर्व सिपाही अपनी प्रेमिका के साथ गिरफ्तार हुआ। आरोपियों ने हनीट्रैप में फंसाकर कारोबारी से हड़पा था 15 लाख का सोना।
10 जून 2018: नेताजी सुभाष प्लेस इलाके में युवकों को हनीट्रैप में फंसाकर पांच करोड़ रुपये मांगने वाली एक महिला गिरफ्तार हुई।
12 मई 2018: तुगलकाबाद के जंगल में युवक को हनी ट्रैप में फंसाकर बुलाया और फिर हत्या कर दी।
09 अप्रैल 2018: क्राइम ब्रांच ने हनी ट्रैप में फंसाकर लोगों से उगाही करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया। छह लोगों को गिरफ्तार किया गया।

गिरोह में चार महिलाएं और दो पुरुष शामिल- 
पुलिस के मुताबिक, इस गिरोह में चार महिलाएं और दो पुरुष शामिल हैं। गिरोह की महिला सदस्य व्हाट्सएप और फोन कॉल के जरिए लोगों को अपनी जाल में फंसाती हैं। अपने अड्डे पर बुलाकर बदनाम करने की धमकी देकर लूटपाट करती हैं या फिर उनके साथ किसी न किसी बहाने से ठगी करती हैं। गिरोह ने कुछ समय पहले आदर्श नगर निवासी 33 वर्षीय एक कारोबारी को भी शिकार बनाया था।

11 अप्रैल 2019

ऐसे फंसाते थे लोगों को-
सोशल मीडिया पर फेक प्रोफाइल बनाकर लोगों को जाल में फंसाया जाता है। इसमें ये जरूरी नहीं कि सामने जो लड़की बातें कर रही है वो वास्तव में लड़की ही हो। कई बार पुरुष एजेंट महिला बन कर बातें करते हैं।

गिरोह की लड़कियां फेक मोबाइल नंबरों पर बातचीत और व्हाट्सएप पर चैटिंग कर लोगों को जाल में फसाती हैं। की चैटिंग के दौरान लोगों की अंतरंग तस्वीरें, बेहद निजी राज आदि जान लिए जाते हैं और फिर ब्लैकमेल करने में इनका इस्तेमाल किया जाता है।

कई मामलों में हनीट्रैप में फंसाने के लिए लड़की खुद को विदेशी मूल का बताकर दोस्ती करती है। इसके बाद लूटपाट का प्लॉट तैयार कर शिकार को जाल में फसाया जाता है।

हनीट्रैप से ऐसे बचें-

  • अनजान लोगों से सोशल मीडिया पर दोस्ती करने से बचें। किसी से दोस्ती करें भी तो उसे किसी भी प्रकार की सूचना साझा न दें।
  • कोई भी अनजान व्यक्ति सोशल मीडिया के जरिए आपसे नजदीकी बढ़ाने की कोशिश करे तो उससे सावधान रहें।
  • सोशल मीडिया से संपर्क में आने वाले लोगों पर हद से ज्यादा भरोसा न करें।
  • किसी भी सोशल मीडिया दोस्त को अपनी गोपनीस सूचनाएं और अंतरंग तस्वीरें आदि साझा न करें।
  • कुछ भी संदिग्ध होने पर पुलिस को इसकी सूचना दें।

जेट एयरवेज पर आया संकट, कंपनी की 90% उड़ानें बंद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...