ऑनर किलिंग: चरित्र पर संदेह के चलते पिता ने की बर्बरता, बेटी को जिंदा जलाया

0
54

जयपुर। फागी थाना इलाके में एक ऑनर किलिंग का मामला सामने आया है। जिसमें एक माता-पिता ने अपनी नाबालिग पुत्री को कीटनाशक सुंघाकर बेहोश करने के बाद केरोसिन डालकर जलाकर मार दिया। पुलिस ने इस मामले में आरोपी माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि शंकरपुरा निवासी छीतरपुरी गोस्वामी ने परीक्षा में कम अंक आने पर पंद्रह वर्षीय पुत्री प्रीति द्वारा केरोसिन डालकर जलकर आत्महत्या करने की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। इसके बाद गांव के ही एक व्यक्ति ने थाने पर फोन कर प्रीति की मौत को संदिग्ध बताया था। जिस पर पुलिस ने एक टीम बनाकर जांच-पड़ताल शुरू की।

घटनाक्रम से जुड़े हुए विभिन्न पहलुओं पर माता-पिता से पूछताछ की गई तो उनके दिए गए जबावों से शक की सुई उनके ऊपर ही ठहर गई। जब सख्ती से पूछताछ की गई तो दोनों ने अपनी पुत्री प्रीति को जलाकर हत्या करना स्वीकार किया। जिसके बाद मृतक की माता परमा देवी एवं पिता छीतरपुरी गोस्वामी को गिरफ्तार कर लिया गया।

मृतका के चरित्र पर था संदेह
पूछताछ में सामने आया कि मृतका के माता-पिता उसके चरित्र पर संदेह करते थे। समझाने के बाद भी जब मृतका अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही थी एवं आस-पड़ोस में उसकी मां परमा देवी को लोगों के ताने सुनने को मिलते थे। जिसके चलते तीन महीने पहले से ही दोनों पुत्री को ठिकाने लगाने की फिराक में थे। घटना से एक दिन पहले शाम को माता-पिता और पुत्री का झगड़ा हुआ तो पिता ने उसकी मां को कह दिया कि अगली सुबह वह अपनी बेटी को किसी भी सूरत में देखना नहीं चाहता।

बेहोश कर जलाया
इसके बाद परमा देवी घटना वाली रात वारदात को अंजाम देने की योजना बनाने की उधेड़बुन में सो गई और अगली सुबह करीब 9 बजे बाड़े में ले जाकर प्रीति का गला दबाया और कीटनाशक सुंघाकर बेहोश कर दिया। थोड़ी देर बाद उसका पिता भी वहां आ गया और दोनों ने मिलकर कलेजे के टुकड़े को केरोसिन डालकर आग के हवाले कर दिया। पूछताछ के दौरान हुए खुलासे से अपने ही जिगर के टुकड़े को किस कदर मौत के घात उतारा यह कहानी सुनकर टीम के सदस्यों की आंखें भी नम हो हो गई।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...