IAS में चयनित गरिमा को भाई के संघर्ष से मिली प्रेरणा तो राहुल ने साध रखा था लक्ष्य

0
45

जयपुर। यूपीएससी ने शुक्रवार को सिविल सर्विसेज एग्जाम-2017 के नतीजे जारी किए। राजस्थान की 20 से ज्यादा प्रतिभाओं ने ऑल इंडिया रैंक हासिल की है। नागौर जिले से दो का चयन आईएएस में हुआ है। आईएएस के लिए चयनित होने वाली प्रतिभाओं में डीडवाना निवासी कमलेश कुमार पंवार की बेटी गरिमा पंवार ने इस परीक्षा में 212वीं रैंक हासिल की है। वहीं मेड़ता रोड निवासी राहुल भाटी को 554वीं रैक मिली है। राहुल वर्तमान में उप निदेशक भारतीय ऊर्जा नियामक विभाग दिल्ली में कार्यरत है

गरिमा बताती हैं कि उसने आईएएस परीक्षा की तैयारी जयपुर व डीडवाना में की। इसके लिए उसके पिता कमलेश कुमार और माता नंदूश्री पंवार का पूरा सहयोग रहा। गरिमा ने बताया कि उसका और परिजनों का दोनों का ही सपना था कि वह आईएएस बने। गरिमा ने बताया कि उनकी इस कामयाबी में उनके भाई का बड़ा योगदान रहा है। वे बताती हैं कि लंबे समय तक उनके भाई ने बीमारी के दौरान जीवन के लिए कड़ा संघर्ष किया था। तब उनके जीवन को करीब से देखा तो लगा कि वह अपनी जिंदगी के लिए कड़ा मुकाबला कर सकते है तो वह अपने जीवन में खुद के लिए तो संघर्ष कर ही सकती है। हालांकि बाद में उनके भाई का निधन हो गया था। गरिमा ने बताया कि अपने भाई के जीवन के संघर्ष से मिली प्रेरणा और माता-पिता व बहन के मार्गदर्शन से उसे आज यह कामयाबी हासिल हो पाई है।

गरिमा के पिता कमलेश कुमार पंवार ने बताया कि गरिमा ने कक्षा 7 तक डीडवाना में ही अध्ययन किया। इसके बाद उसने गोटन और दिल्ली व जयपुर में पढ़ाई की। वे बताते हैं कि गरिमा से एक बड़ी बहन भी है। वहीं गरिमा नेट भी क्लियर कर चुकी है। शुक्रवार को आईएएस में भी चयन हो गया है। परिणाम जारी होने के साथ ही परिवार में खुशियों का माहौल छा गया। गरिमा पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत  के पुत्र वैभव गहलोत की छोटी साली है। परिचितों और शुभचिंतकों की ओर से गरिमा व उनके परिजनों को बधाई दी गई

मेड़ता रोड। मेड़ता रोड निवासी राहुल भाटी का भारतीय प्रशासनिक सेवा में चयन हुआ है। वर्तमान में राहुल उप निदेशक भारतीय ऊर्जा नियामक विभाग दिल्ली में कार्यरत है। भाटी को 554वीं रैक मिली है। कस्बे के माली मोहल्ला निवासी उम्मेदसिंह भाटी प्राध्यापक राउमावि मेड़ता रोड के 26 वर्षीय पुत्र राहुल भाटी का पूर्व में आईईएस में चयन होने के बाद वर्तमान में दिल्ली में भारतीय ऊर्जा नियामक विभाग में उप निदेशक पद पर कार्यरत है। पूर्व में गत माह ही आईएफएस में भी चयन हुआ था। अब आईएएस में 554वीं रैक प्राप्त हुई है। चयन होने पर मेड़ता रोड में खुशी की लहर छा गई। राहुल भाटी के परिजनों ने बताया कि वह शुरू से ही प्रतिभावान विद्यार्थी रहा। उसने तय रखा था कि वह आईएएस बनेगा। इसके लिए उसने कड़ी मेहनत करते हुए लगातार अपने लक्ष्य के प्रति अपने प्रयास जारी रखे। हाल ही में कुछ समय पहले आईएफएस में चयन होने के बाद शुक्रवार को जारी हुए परिणाम ने परिवार के लिए खुशियों को दोगुना कर दिया। वहीं राहुल के अभी दिल्ली होने पर उनके परिचितों न उन्हें व उनके परिजनों को बधाई दी। देर शाम तक उन्हें बधाई देने वालों की भीड़ लगी रही।

आईएएस में चयनित हुए राहुल भाटी के पिता मेड़ता रोड सीनियर बॉयज स्कूल में ही प्राध्यापक है। माता सूरज देवी भाटी गृहिणी है। भाटी ने मेड़ता रोड में ही सीनियर तक की शिक्षा सरकारी स्कूल में ही ग्रहण की थी। इंजीनियरिंग की पढ़ाई जोधपुर से करने के बाद जुलाई 2013 में दिल्ली में मेट्रो में चयन होने के बाद 7 माह तक नौकरी करने के बाद इस्तीफा दे दिया था। 2015 में आईईएस में चयन हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...