ITI से पढ़ाई पूरी करने के बाद होगा आकलन

0
60

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल जल्द ही व्यावसायिक प्रशिक्षण के लिए नियामक बनाने का प्रस्ताव पारित कर सकता है। इसके साथ ही कौशल विकास कार्यक्रम पर भी निगाह रखी जाएगी। यह नियामक ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (AICTE) की तर्ज पर होगा।

सरकारी अधिकारियों का कहना है कि इसके पीछे मकसद कुशल श्रम बल की गुणवत्ता में सुधार करना है। प्रस्तावित नियामकीय एजेंसी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (ITI) से निकलने वाले 23 लाख विद्यार्थियों के आकलन और प्रमाणीकरण का काम करेगी।
इसके साथ ही यह कौशल परिषदों के कामकाज की भी निगरानी करेगी। कौशल परिषद राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (NSDC) द्वारा उद्योगों के नेतृत्व में बने निकाय हैं।
कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कई अहम बाते कही हैं।  सफल आईटीआई स्नातकों को इंडियन सर्टिफिकेट ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (ICSE) तथा केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) की परीक्षा पास करने वालों की तर्ज पर ही प्रमाणपत्र दिया जाएगा।
इससे वे आगे अन्य स्कूलों और कॉलेजों में नियमित पाठ्यक्रमों की पढ़ाई कर सकेंगे। मंत्रालय के शीर्ष सूत्रों ने कहा कि कई विभागों के साथ विचार विमर्श के बाद कैबिनेट नोट तैयार है और इसे जल्द केंद्रीय मंत्रिमंडल के समक्ष रखा जाएगा।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...