jaipur medical news लापरवाही का आरोप, देर रात अस्पताल में दुर्घटनाग्रस्त होकर आया था

महानगर संवाददाता
जयपुर। कांवटिया अस्पताल में दुर्घटनाग्रस्त होकर इलाज के लिए आए 33 साल के हेमेंद्र की अस्पताल परिसर में मौत हो गई। परिजनों के आरोप के अनुसार अस्पताल में इमरजेंसी की लचर व्यवस्थाओं के चलते देवेन्द्र की मौत हुई।

मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को देर रात हेमेंद्र को 108 एम्बुलेंस वीकेआई से दुर्घटनाग्रस्त होने पर कांवटिया

अस्पताल छोड़ गई थी, जहां रात को ड्यूटी डॉक्टर ने सिर में टांके लगाने और दवा देने की पर्ची लिख दी।

कुछ देर बाद हेमेंद्र अस्पताल परिसर में ही बारिश में भीगता रहा और सुबह तक उसकी मौत हो गई।

सुबह पुलिस ने पोस्टमार्टम करा लिया। इस घटना की रिपोर्ट भी दर्ज करवाई गई है।

जांच कमेटी बनाई

इस मामले में कांवटिया अस्पताल प्रशासन का कहना है कि इमरजेंसी में तैनात कर्मचारियों और ड्यूटी डॉक्टर को हमेशा

ये निर्देश दिए जाते हैं कि अस्पताल आने वाले हर मरीज का पूरा ध्यान रखा जाए।

यदि फिर भी इस तरह की लापरवाही हुई है तो जांच की जाएगी।

इस मामलेे में कांवटिया अस्पताल के अधीक्षक डॉ. लीनेश्वर हर्षवर्धन ने बताया कि इस मामले की जांच की जा रही है।

तीन सदस्यों की एक जांच कमेटी बनाई गई है जो कि तीन दिन में अपनी जांच रिपोर्ट देगी।

इसके बाद दोषी कर्मचारी पर कार्रवाई की जाएगी।

Read Also:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...