मुंबई के सीएसटी स्टेशन के पास गिरा फुटओवर ब्रिज, लाल बत्ती होने के कारण कई लोगों की बची जान

0
18

मुंबई|सीएसटी स्टेशन के पास गुरुवार शाम को हुए एफओबी हादसे में जहां 6 लोगों की मौत हो गई वहीं कई अन्य लोग घायल हो गए। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि जब पुल ढहा तब पास के सिग्नल पर लाल बत्ती के चलते ट्रैफिक रुका हुआ था और इसी कारण ज्यादा मौतें नहीं हुई।

इसे कसाब पुल भी कहते हैं
यह वही पुल है, जिससे होते हुए 26/11 के हमले के दौरान आतंकी अजमल कसाब सीएसटी से निकल गया था। उसके बाद लोग इसे कसाब पुल भी कहते हैं। ब्रिज बीएमसी के दफ्तर से 500 मीटर की दूरी पर स्थित है। टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग के अलावा एफओबी के करीब मुंबई पुलिस का मुख्यालय और सीएएमए अस्पताल भी हैं। शाम के वक्त इस इलाके में काफी भीड़ रहती है।

Image result for mumbai bridge collapse

अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि आज सुबह पुल पर मरम्मत कार्य चल रहा था इसके बावजूद इसका इस्तेमाल किया गया। बड़ी बात यह है कि केवल 6 महीने पहले हुए स्ट्रक्चरल ऑडिट रिपोर्ट में इस पुल को प्रयोग के लिए फिट घोषित किया गया था।

परिजनों को मिलेंगे 5 लाख रूपए
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़णवीस ने मृतकों के परिजन के लिए पांच-पांच लाख रुपये की अनुग्रह राशि की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि 40 साल पुराने इस पुल के गिरने की जांच एक उच्चस्तरीय समिति करेगी।

इस त्रासदी ने सर्वेक्षण की गुणवत्ता पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। दो वर्ष पहले नगर पालिका द्वारा नियुक्त ठेकेदारों ने मुंबई के सभी 314 पुलों, सबवे और स्काईवॉक का ऑडिट किया था। हादसे के बाद बीएमसी कमिश्नर ने इस पुल के स्ट्रक्चरल ऑडिट से जुड़े सभी दस्तावेजों को जब्त करने का आदेश दिया है। दस्तावेजों को देखने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Image result for mumbai bridge collapse

स्पेन में छाया गुमनाम रॉबिनहुड, लोग ढूंढ रहे हैं पहचान

जुलाई 2018 में भी हुआ था हादसा

जुलाई 2018 में मुंबई में भारी बारिश की वजह से अंधेरी स्टेशन के करीब एक फुट ओवरब्रिज का हिस्सा गिर जाने से वेस्टर्न लाइन पर लोकल ट्रेनों की आवाजाही कुछ देर के लिए ठप हो गई थी। इस हादसे में 5 लोगों जख्मी हुए थे।

सितंबर 2017 में एलफिन्स्टन रेलवे स्टेशन पर बने एफओबी पर मची थी भगदड़
29 सितंबर 2017 को मुंबई के परेल इलाके में एलफिन्स्टन रेलवे स्टेशन पर बना फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) पर भगदड़ मची थी। हादसे में 23 लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में 8 महिलाएं शामिल थीं। तब पश्चिमी रेलवे ने बताया था कि बारिश से बचने के लिए एफओबी पर भारी भीड़ जमा हो गई थी और अफवाह की वजह से भगदड़ मच गई।

दुष्यंत के सामने चुनाव लड़ सकती हैं उर्मिला भाभी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...