कॉकरेज से भरे घर में मिली ‘मोगली गर्ल’, नहीं जानती कोई भाषा

0
33

रूस के मास्को में एक विचित्र घटना ने लोगों के रोंगटे खड़े कर दिए। यहां एक बहुत ही गंदे फ्लैट में पांच साल की लड़की बचपन से रह रही थी। इस लड़की ने न तो कभी बाहर की दुनिया देखी है और न ही यह कोई भाषा जानती है। लड़की के रोने की आवाज सुनकर पड़ोस में रह रहे लोगों को उसके वहां होने का पता चला। रूसी मीडिया ने इस लड़की को ‘मोगली गर्ल’ नाम दिया है।.

क्यों दिया यह नाम
वैसे तो लड़की का असली नाम कूबोव या लव बताया जा रहा है, लेकिन जिस प्रकार की इसकी स्थिति थी यह बिल्कुल चर्चित पात्र मोगली जैसी थी। मोगली पर धारावाहिक और फिल्म ‘जंगल बुक’ भी बन चुकी है। एक ऐसा बच्चा जो जंगली जानवरों के बीच पला-बढ़ा और सामाजिक तौर तरीकों से कोसों दूर रहा। कूबोव भी कुछ इसी प्रकार के हालात में जी रही थी। उसके चारों ओर कचरे का ढेर था जिससे भयंकर बदबू आ रही थी। कूबोव मोगली की तरह ही अर्धनग्न अवस्था में पायी गई। यही नहीं इस फ्लैट में बहुत कॉकरोच थे और इनके बीच एक मांद जैसी बनी हुई थी, जिसमें कूबोव रह रही थी वह भूख और प्यास के कारण कुपोषित हो गई थी।

पेट्रोल के दाम लगातार तीसरे दिन बढ़े, डीजल हुआ सस्ता

निर्दयी निकली ‘मोगली गर्ल’ की मां
बताया जा रहा है कि कूबोव की 47 वर्षीय मां इरीना गाराशेंको नाजायज तौर पर इस फ्लैट में रह रही थी। जो कई दिनों से गायब थी। इरीना के पड़ोसियों ने बताया कि करीब पांच साल पहले इरीना यहां बच्ची को लाई थी पर बाद में उसने बताया कि बच्ची अब अपनी दादी मां के पास चली गई है। पड़ोसियों की सूचना पर ही पुलिस ने यहां पहुंच बच्ची को बचाया। खबरों के मुताबिक इस दौरान बच्ची की मां भी यहां पहुंची और भागने लगी लेकिन पड़ोसियों ने उसको भागने नहीं दिया।

real life mowgli girl  is rescued by cockroach infested apartment photo  east2west news

– 05 साल से बच्ची के साथ फ्लैट में नाजायज तरीके से रह रही थी मां.
– पांच साल की इस लड़की ने नहीं देखी बाहरी दुनिया।
– बच्ची के रोने की आवाज से पड़ोसियों को उसका पता चला

real life mowgli girl  is rescued by cockroach infested apartment photo  east2west news

केमिकल सुरक्षा के साथ फ्लैट में घुस पाई पुलिस
पड़ोसियों ने बताया कि बच्ची की रोने की आवाज सुनने पर जैसे ही हम फ्लैट में दाखिल हुए हम जैसे बेहोश ही होने वाले थे। यह इतना गंदा और बदबूदार था कि पुलिस भी केमिकल सुरक्षा साधनों के साथ ही यहां प्रवेश कर पाई।

कानपुर में एक हफ्ते चलता है होली का जश्न, पीछे की कहानी है बड़ी ही दिलचस्प

———————————————————————————–

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...