सेलून में नेल ग्लू इस्तमाल किया और दो घंटे तक आंखों से दिखना बंद

0
50

नई दिल्ली: किसी भी सलून में अपॉइंटमेंट लेने से पहले उसके बारे में अच्छे से रिसर्च कर लेना चाहिए। विशेष रूप से अगर आप लैश एक्सटेंशन करवा रहे हो तो। इस प्रक्रिया में आपको पूरे समय आंखें बंद रखनी पड़ती है और इस कारण आप वे सभी प्रोडक्ट नहीं देख पाते जो यूज हो रहे हैं। एक ट्विटर यूजर का अनुभव चौंकाने वाला है। 19 अक्टूबर को बेडफोर्डशायर में पढ़ रही 20 साल की मेगर रिक्सन ने एक सलून में लैश एक्सटेंशन के लिए अपॉइन्टमेंट बुक किया। वह उस सलून में पहले कभी नहीं गई थी। लैश एक्सटेंशन की प्रक्रिया के दौरान, उसे आंखों में जलन हुई और लैश अप्लाई करने के कम से कम दो घंटे तक उसे दिखाई देना ही बंद हो गया।

34वीं नेशनल जूनियर एथलेटिक्स 2 नवंबर से

सलून में लैशेज पर उन्होंने नेल ग्लू यूज किया था जिससे दो घंटे तक उसे कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था। मेगन के मुताबिक ये तो अच्छा रहा कि सूजन कम हो गई लेकिन अभी भी काफी परेशानी है। मेगन के मुताबिक जब वह लैश एक्सटेंशन कर रही थी तो मेरी एक आंख में काफी चुभन हो रही थी। लेकिन उन्होंने कहा कि चिंता मत करो, यह सामान्य है और उन्होंने मुझे मेरी आंखें खुली रखने के लिए कहा। मुझे आंखों में जलन होने लगी। स्वभाविक रूप से आंखें बंद होने लगी, लेकिन वह बोले जा रही थी कि मैं आंखें खुली ही रखूं। जब उसने अपना काम कर दिया तो मैं बेड पर बैठ गई और आंखें खोल ही नहीं पाई। मैंने उनसे कहा कि यह नॉर्मल नहीं है लेकिन वह इसी बात पर अड़ी थी कि ऐसा होता है। वे कहती हैं मैं जब फिर सलून लौटी तो मैंने इस बातें में जांच-परख करना चाही। जब मेरे बॉयफ्रेंड ने पूछा कि उन्होंने कौन सा ग्लू यूज किया तो सलून में एक लेडी ने बताया कि नेल ग्लू। मेगन के मुताबिक यह तो शुक्र है कि कोई लंबे समय का डैमेज नहीं हुआ। लेकिन इस अनुभव से एक बात समझ आई कि आंखों की रोशनी कोई मजाक नहीं है और इसे प्रोटेक्ट करना जरूरी है।

आज जमशेदपुर के सामने गोवा की चुनौती

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...