NRC के मुद्दे पर विपक्षी दल देश को गुमराह ना करे : अमित शाह

नई दिल्ली: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने असम के राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) पर कहा कि विपक्षी दल इस मसले पर देश को गुमराह कर रहे हैं | उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस वोटबैंक के चक्कर में बंगाली घुसपैठियों को बाहर करने का साहस नहीं दिखा सकी और अब सवाल उठा रही है |

शाह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ‘जब सदन में मैंने एनआरसी पर अपनी बात रखनी चाही तो सदन नहीं चलने दिया गया | ये मेरे लिए दुर्भाग्य की बात है कि मैं अपनी बात नहीं रख पाया, इसलिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करनी पड़ी |’

अमित शाह ने कहा, ‘पिछले दो दिनों से देश में एनआरसी के उपर बहस चल रही है और यह कहा जा रहा है कि 40 लाख भारतीयों नागरिकों को अवैध घोषित कर दिया गया है जबकि वास्तविकता है कि प्राथमिक जांच होने के बाद जो भारतीय नहीं है उनके नाम NRC से हटाए गए हैं |’ शाह ने स्पष्ट तौर पर कहा कि जो अपने भारतीय नागरिक होने का एक भी सबूत नहीं दे पाए हैं, उन्हें रजिस्टर से बाहर किया गया है और जो भारतीय हैं उन्हें चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है |

इसे अंतिम आंकड़ा न समझे :

अमित शाह के मुताबिक, ’40 लाख का आंकड़ा कोई अंतिम आंकड़ा नहीं है, सुप्रीम कोर्ट के संरक्षण में पूरी जांच की जाएगी और उसके बाद ही कोई निर्णय लिया जाएगा |’

शाह के मुताबिक, ‘असम एकॉर्ड जो राजीव गांधी जी की अध्यक्षता वाली सरकार के समय में हुआ था, NRC उसकी आत्मा है जिसमें व्याख्या की गई है कि एक-एक अवैध घुसपैठिये को चुनकर देश की मतदाता सूचि से बाहर किया जाएगा | लेकिन कांग्रेस अब उसी पर देश को गुमराह कर रही है | अमित शाह ने आरोप लगाया कि कांग्रेस के अंदर बांग्लादेशियों को बाहर निकालने का साहस नहीं था, क्योंकि वोटबैंक जाने का खतरा था |

अपना रुख स्पष्ट करें :

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी एनआरसी के मुद्दे पर अपना रुख स्पष्ट करें | उन्होंने तृणमूल कांग्रेस समेत दूसरे दलों से भी एनआरसी पर अपना रुख स्पष्ट करने की मांग की | शाह के मुताबिक, पी. चिदंबरम ने गृहमंत्री रहते हुए कहा था कि बंगाली घुसपैठियों को बाहर निकाला जाएगा | लेकिन अब कांग्रेस की तरफ से सवाल उठाए जा रहे हैं |

ममता अपना सामान्य ज्ञान ठीक करे :

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर शाह ने कहा कि उन्हें अपना सामान्य ज्ञान थोड़ा ठीक करना चाहिए | शाह ने कहा कि ममता बनर्जी चुनाव जीतने के लिए भ्रांतियां फैला रही हैं | शाह ने ये भी कहा कि मुझे बड़े दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि BJP और BJD के अलवा किसी भी पार्टी ने यह कहना उचित नहीं समझा है कि हमारे देश में घुसपैठियों का कोई स्थान नहीं है |

बीजेपी देश की सीमा सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है और अपने असली नागिरकों के मानवाधिकारों के साथ वह कोई समझौता नहीं कर सकती है |

बता दें कि असम में एनआरसी का दूसरा ड्राफ्ट जारी कर दिया गया है, जिसके तहत असम के 2 करोड़ 89 लाख 83 हजार 677 लोगों को वैध नागरिक माना गया है | जबकि 40 लाख से ज्यादा लोगों को अवैध माना गया है, जिसके बाद इस मसले पर सियासत गरमा गई है | कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस समेत तमाम विपक्षी दल बीजेपी पर जनता के साथ अन्याय का आरोप लगा रहे हैं |

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...