NRI दूल्हे हनीमून मनाने के लिए बनाते हैं दुल्हन, फिर …

दरअसल, उक्त घटनाओं में पहले पंजाबी लड़कियों का विवाह NRI दुल्हों से कराया गया और फिर शादी के कुछ साल बाद उन्हें छोड़ दिया गया। पीड़ित महिलाओं ने दिल्ली सिख गुरुद्वारा के सामने आपबीती सुनाते हुए मदद की गुहार लगाई है।
9 साल पहले NRI से विवाह करने वाली एक महिला ने अपनी दिल दहलाने वाली कहानी बतायी। शादी के 8 साल बाद जब महिला का पति देश से बाहर चला गया, तो उसे घर से बेदखल कर दिया गया।

महिला ने आगे बताया कि वह अकेली नहीं है। उसके अलावा बहुत सी महिलाएं इस समस्या से गुजर रही हैं। सरकार पर आरोप लगाते हुए पीड़ित महिला ने कहा कि सब कुछ ज्ञात होते हुए भी सरकार ने इस दिशा में कोई कदम नहीं लिया।

फिलहाल, दिल्ली सिख गुरुद्वारा समिति ने पीड़ित महिलाओं को मदद का आश्वासन दिया है। इसके अलावा समिति ने यह भी कहा कि वह एक सलाहकार समिति स्थापित करेंगी। जिसके तहत सभी गुरुद्वारों को विवाह समारोह करने से पहले NRI दूल्हों को पुलिस सत्यापन करने के लिए कहा जाएगा।

लुकआउट सर्कुलर (LOC) जारी करने के बाद समिति के सदस्यों ने कहा कि, इस मुद्दे पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। यह राज्य और केंद्र सरकार के बीच समन्वय की कमी दर्शाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here