कांग्रेस के दावेदार टिकट की जुगत में लगा रहे दिग्गजों के यहां धोक

0
101

जयपुर। प्रदेश के विधानासभा चुनाव में टिकटों के लिए कांग्रेस चुनाव स्क्रीनिंग कमेटी ने काम तेज कर दिया है। दिल्ली में कमेटी चेयरपर्सन कुमारी शैलजा लगातार प्रत्याशियों के पैनल बनाने की कवायद में जुटी हुई हैं। इसके लिए निजी एजेंसी के सर्वे और चारों सहप्रभारियों की रिपोर्ट की पड़ताल फिलहाल स्क्रीनिंग कमेटी कर रही है। साथ ही कईं फार्मूलों को टिकट वितरण में लागू करने पर भी गंभीरता से चर्चा चल रही है।

लिहाजा, राजस्थान के हजारों कांग्रेस नेताओं और दावेदारों ने दिल्ली में डेरा डाल लिया है। राजस्थान विधानसभा चुनाव के रण को जीतने के लिए कांग्रेस ने योद्धाओं की तलाश तेज कर दी है। जद्दोजहद इतनी पैनी तरीके और गहराई में जाकर की जा रही है कि कमजोर मोहरों पर दांव खेलने की गलती नहीं हो जाए। इसके लिए स्क्रीनिंग कमेटी हर एंगल और पहलुओं पर फिलहाल गौर कर रही है।

एजेंसी का सर्वे, सहप्रभारियों की रिपोर्ट और अशोक गहलोत-सचिन पायलट की राय मशविरा जैसे फैक्टर पर कमेटी फिलहाल प्रत्याशियों के पैनल तैयार करने के काम में जुटी हुई है। साथ ही दो बार हारने वालों को टिकट नहीं देने औऱ पूर्व सांसदों को एमएलए चुनाव नहीं लड़ाने जैसे फार्मूले को लागू करने पर भी गंभीर डिस्कशन जारी है। फिलहाल स्क्रीनिंग कमेटी का लेटेस्ट वर्क कमजोर सीटों पर कैसे जीता जाए इसको लेकर हो रहा है।

स्क्रीनिंग कमेटी और चारों सहप्रभारी आपस में पिछले कईं दिनों से लंबी बैठकों के जरिए इस बार मशक्कत कर रहे हैं। फिलहाल एक फाइनल सर्वे की रिपोर्ट आने वाली है, उसके बाद ही पैनल बनाने के अंतिम पायदान पर स्क्रीनिंग कमेटी पहुंचेगी। जिस तरह स्क्रीनिंग कमेटी काम में जुटी हुई है, उससे इस बात की पूरी संभावना है कि अक्टबूर में 70 से लेकर 80 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी हो जाएगी। पहली लिस्ट में अधिकतर वो नाम होंगे, जिसमें मौजूदा विधायक, वरिष्ठ नेता और गैर विवादित सीटों के प्रत्याशियों के नाम होंगे।

इसके साथ ही एक फैक्टर यह भी हो सकता है कि लगातार हारने वाली या ज्यादा बार हारने वाली सीटों के भी प्रत्याशी घोषित कर दिया जाएं। वहीं प्रत्याशियों का पैनल तैयार करने की कवायद के बीच राजस्थान के दावेदारों ने दिल्ली में डेरा डाल लिया है।

दिल्ली में लगा सियासी मेला, प्रदेश के नेता पहुंचे हाजिरी देने

राजस्थान हाउस, अकबर रोड, एआईसीसी, शैलजा का सफदरगंज आवास और प्रभारी पांडे के गोमती फ्लैट पर दावेदार उमड़ पड़े हैं। वहीं सहप्रभारियों से उनके राज्यों के हाउस और सदन में मिल रहे हैं। राजस्थान हाउस से लेकर एआईसीसी दफ्तर तक राजस्थान नंबर की गाडिय़ों की लाइन लग गई है। दावेदार फिलहाल अशोक गहलोत, सचिन पायलट, प्रभारी पांडेय, कुमारी शैलजा और चारों सहप्रभारियों को बायोडेटा दे रहे हैं।

नया दावेदार हो या फिर पूर्व विधायक और मंत्री सब टिकट के जुगाड़ के लिए दिल्ली में इनके परिक्रमा लगा रहे हैं। आचार संहिता लगते ही स्क्रीनिंग कमेटी का लगभग 100 फीसदी काम पूरा होने की संभावना है। ऐसे में दिल्ली में राजस्थान के दावेदारों का ऐसे ही वहां मेला लगा रहेगा, लेकिन टिकट के लिए दावेदारों ने दिन रात एक कर दिया है। हर वो जुगाड़ लगा रहे हैं, जिससे टिकट मिलने की हसरत कैसे भी पूरी हो जाए।

  • 2
    Shares

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...