SBI और ICICI के बाद अब इस बैंक ने भी महंगा किया कर्ज

0
47
DEMO PIC

नई दिल्ली। विजया बैंक ने भी मार्जिनल कॉस्ट बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) में बढ़ोतरी का फैसला कर लिया है। चुनिंदा अवधियों के लिए बैंक एमसीएलआर को 0.05 फीसद की दर से बढ़ा रहा है।

DEMO PIC

नियामकीय फाइलिंग में बैंक ने जानकारी दी है कि नई दरें 7 सितंबर, 2018 से लागू हो रही हैं। एक वर्ष की एमसीएलआर को 8.65 फीसद से बढ़ाकर 8.70 फीसद कर दिया गया है।

इसी तरह छह, तीन, एक महीने और एक रात वाली एमसीएलआर पर 0.05 फीसद की बढ़ोतरी की गई है।

हालांकि, तीन साल के लोन पर 9.25 फीसद और दो साल के लोन पर 9 फीसद की एमसीएलआर को बरकरार रखा गया है। बीते हफ्ते देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने तीन वर्ष तक की सभी अवधियों पर 20 बेसिस प्वाइंट या 0.20 फीसद तक एमसीएलआर बढ़ा दी है।

एसबीआई की एक साल वाली अवधि पर एमसीएलआर को 8.25 फीसद से बढ़ाकर 8.45 फीसद कर दिया गया है।

इसी तरह आइसीआइसीआइ बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा ने भी एमसीएलआर बढ़ा दी हैं। बैंक ऑफ बड़ौदा ने बीते बुधवार को कहा कि वह सभी अवधियों पर पांच बेसिस प्वाइंट तक एमसीएलआर बढ़ा रहा है जो कि 7 सितंबर से लागू होने जा रही है।

एमसीएलआर वह दर होती है जिस पर किसी बैंक से मिलने वाले ब्याज की दर तय होती है। इससे कम दर पर देश का कोई भी बैंक लोन नहीं दे सकता है, सामान्य भाषा में यह आधार दर ही होती है।

एमसीएलआर बढ़ने से आम आदमी को सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि उसका मौजूदा लोन महंगा हो जाता है और उसे पहले की तुलना में ज्यादा ईएमआई देनी पड़ जाती है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...