खुशखबरी: एसएमएस अस्पताल में पथरी के ऑपरेशन के लिए अब नहीं होंगे मरीज परेशान

0
66

जयपुर। एसएमएस अस्पताल में पथरी के ऑपरेशन के लिए पहुंचने वाले मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। दरअसल एसएमएस अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग में जल्दी ही पथरी के ऑपरेशन के लिए नई लिथोट्रिप्सी की मशीन लगाई जाएगी।

इस नई मशीन के लगने से पथरी के मरीजों को पथरी के ऑपरेशन के लिए अन्य स्थानों और निजी सेंटरों पर नहीं जाना पड़ेगा। अस्पताल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लिथोट्रिप्सी की नई मशीन स्वीकृत हो गई है। इस नई मशीन को ट्रोमा सेंटर के आगे नई जगह में लगाया जाएगा। इस मशीन के लगने से पथरी के मरीजों को बड़ी राहत मिलेगी ।

गौरतलब है कि अभी मरीजों को पथरी के ऑपरेशन के लिए निजी अस्पतालों में जाना पड़ता है। जहां पथरी का ऑपरेशन काफी मंहगा साबित होता है। एसएमएस अस्पताल में अभी पथरी के ऑपरेशन दूरबीन से किए जा रहे हैं। यूरोलॉजी विभाग के चिकित्सकों के अनुसार नई लिथोट्रिप्सी की मशीन लगने से पथरी सटीक ऑपरेशन नई तकनीक के माध्यम से संभव हो पाएगा। मशीन अत्याधुनिक तकनीक से युक्त होगी।

अब नहीं भटकेंगे मरीज
ऐसा नहीं है कि एसएमएस अस्पताल में अभी तक लिथोट्रिप्सी की मशीन नहीं थी। एसएमएस अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग में लगी लिथोट्रिप्सी की मशीन काफी समय से खराब पड़ी है। जिसके चलते अभी मरीजों के पथरी के ऑपरेशन दूरबीन से किए जा रहे हैं। अभी लिथोट्रिप्सी की मशीन खराब होने के कारण कई मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मरीजों की समस्याओं को देखते हुए एसएमएस अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग में जल्दी ही नई लिथोट्रिप्सी मशीन लगाई जा रही है। अस्पताल सूत्रों के अनुसार इस मशीन की स्वीकृति भी मिल गई। जल्दी ही यूरोलॉजी विभाग में नई मशीन के लगने के पथरी के ऑपरेशन के लिए मरीजों को अन्य अस्पतालों तक ऑपरेशन के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। गौरतलब है कि एसएमएस अस्पताल के यूरोलॉजी विभाग में प्रतिदिन पांच से छह सौ मरीज आउटडोर में आते हैं। इनमें कई मरीजों को पथरी का ऑपरेशन करवाना पड़ता है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...