छात्रा ने डिलीवरी के अगले दिन दी अस्पताल से परीक्षा

0
46

बंगलूरू में एक 27 साल की पोस्टग्रैजुएट मेडिकल छात्रा ने सी-सेक्शन डिलीवरी के अगले दिन अस्पताल से ही परीक्षा दी है। छात्रा को परीक्षा देते समय प्रसव पीड़ा हो गई थी। जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया। छात्रा ने अगले दिन अस्पताल से ही दूसरी परीक्षा दी रविवार रात को छात्रा को कस्तूरबा अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। अब वह अपनी प्रैक्टिकल परीक्षा की तैयारी कर रही हैं। बताया जा रहा है कि छात्रा ने 2 अप्रैल को बच्चे को जन्म देने के बाद अस्पताल से परीक्षा देने की इजाजत मांगी थी।

लोकसभा चुनाव 2019 – कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची यहां देखें

मेडिकल कॉलेज की डीन डॉ. प्रज्ञा राव का कहना है कि छात्रा को अस्ताल से परीक्षा देने के लिए जरूरी मंजूरी दे दी गईं थीं। हालांकि छात्रा की पहचान नहीं बताई गई है। इसपर अन्य छात्रों का कहना है कि सभी साथी 2 अप्रैल को प्रसव पीड़ा को देखकर छात्रा की तबीयत के लिए परेशान थे। किसी ने सोचा नहीं था कि वह अगले दिन परीक्षा देगी।

मोदी की बायोपिक पर रोक लगाने वाली याचिका हुई खारिज

एक डॉक्टर के तौर पर वह अपनी हालत के बारे में जानती थीं। साथी छात्रा ने कहा कि सी-सेक्शन एक बड़ा ऑपरेशन होता है। मां बनने वाली छात्रा को अस्पताल से परीक्षा देने पर सम्मान मिलना चाहिए।

————————————————————————-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...