भ्रूण लिंग परीक्षण में लिप्त दो लोग गिरफ्तार

0
41

जयपुर। पीसीपीएनडीटी टीम ने शनिवार को श्रीगंगानगर में डिकॉय कार्रवाई करते हुए भ्रूण लिंग जांच मामले में लिप्त सन्तोख सिंह सेखो (27) पुत्र गुरनेक सिंह निवासी निवासी श्रीगंगानगर एवं नवनीत सिंह (38) पुत्र महेन्द्र सिंह निवासी पीलीबंगा को गिरफ्तार किया है। साथ ही डिकाय राशि के हू-ब-हू नम्बरी नोट भी बरामद कर लिये हैं। विभाग की अब तक यह 145वीं व 2019 की चौथी कार्यवाही है।

CM गहलोत ने भीमराव अम्बेडकर की 128 वीं जयंती पर पुष्प किए अर्पित

अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा ने बताया कि मुखबिर के जरिए टीम को सूचना मिल रही थी कि हनुमानगढ़ जिले के नजदीक भ्रूण लिंग जांच करवाने का कार्य किया जा रहा है। जिस पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पीसीपीएनडीटी शालिनी सक्सैना के निर्देशन में टीम गठित करके मामले की पुष्टि की गई। सूचना के सही पाए जाने पर डिकॉय टीम का गठन किया गया व दलाल नवनीत सिंह से सम्पर्क साधा गया।

जेट एयरवेज पर आया संकट, कंपनी की 90% उड़ानें बंद

उसने जांच करने के एवज में 50,000 रूपए की मांग की और 13 अप्रेल को सुबह 11 बजे हनुमानगढ़ बुलाया। तय समय के अनुसार नवनीत सिंह अपनी गाड़ी स्विफट डिजायर नं. आरजे-31-सीए-7989 में महिला व उसके साथ सहयोगी महिला को श्रीगंगानगर ले गया। श्रीगंगानगर पहुंचने पर नवनीत सिंह ने जिला अस्पताल से अपने मित्र सन्तोख सिंह सेखो को भी बुलाया, जो अपनी ऑटो गाड़ी नं. पीबी-22-जी-4141 पर उनके साथ-साथ जाने लगा। सन्तोख सिंह जिला अस्पताल में पिछले 6 वर्षों से मेल नर्स (द्वितीय) कार्य कर रहा है।

Image result for bhun ling

वहां से दोनों आरोपी गर्भवती महिला को जिला अस्पताल के ही नजदीक स्थित श्री अम्बा हॉस्पीटल स्थित डॉ. जसरीन अल्ट्रासाउण्ड सेंटर ले गये। उन्होंने वहां डिकाय गर्भवती महिला की सोनोग्राफी करवाई एवं बाहर आकर भ्रूण लिंग के बारे में सूचना दी। इशारा मिलते ही पीबीआई टीम ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया एवं हू-ब-हू नम्बरी नोट भी बरामद कर लिये। सोनोग्राफी केन्द्र के चिकित्सक डॉ. जसरीन सिडाना की संलिप्तता के बारे में जांच की जा रही है। सेंटर को सीज कर दिया गया है, जिसकी जांच निदेशालय स्तर से करवाई जाएगी। साथ ही आरोपियों से भी डॉक्टर से संलिप्तता के बारे में सघन पूछताछ की जा रही है। पीबीआई टीम द्वारा आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्यवाही की जा रही है।

साल में दो बार मनाई जाती है हनुमान जयंती, जानिए क्यों

अध्यक्ष राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम डॉ. समित शर्मा ने चेतावनी दी है कि अगर प्रदेश में किसी भी सोनोलॉजिस्ट की भ्रूण लिंग परीक्षणों में संलिप्तता पाई गई तो उसके खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

————————————————————————-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...