10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षा में बच्चो ने प्रश्नों के जवाब के साथ दिए अनोखे जवाब

0
29

उत्तर प्रदेश 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं खत्म हो चुकी हैं और कॉपियों के जांचने का काम भी शुरू हो गया है. जैसे जैसे परीक्षार्थियों की जांच हो रही है, वैसे-वैसे विद्यार्थियों के खुराफाती दिमाग की कई उपज भी सामने आ रही है. हर साल की तरह इस बार भी बच्चे परीक्षा की कॉपी में प्रश्नों के जवाब के साथ साथ खास जवाब दे रहे हैं. देखते हैं बच्चों ने पेपर में किस तरह के जवाब दिए…

'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहारमीडिया रिपोर्ट के अनुसार हाल ही में एक छात्र ने अपनी कॉपी में लिखा है ‘सर, मेरे मामा सेना में थे, वह शहीद हो गए हैं, पाकिस्तान से उनका बदला लेने जाना है. इसलिए पास कर दीजिए’. परीक्षा में पास होने के लिए छात्र अलग अलग तरह के हथकंडे अपनाते हैं.
'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहार

वहीं बताया जा रहा है कि एक छात्र ने लिखा है, ‘गुरुजी पास कर दीजिए, वर्ना भगवान आपको कभी माफ नहीं करेगा’. साथ ही कई छात्र कॉपी में जवाब नहीं नहीं लिख पाए और उन्होंने जवाब की जगह प्रश्न ही लिख दिया. माना जा रहा है कि नकल पर लगाम लगने की वजह से कई छात्र बहुत कम सवाल के जवाब दे पाए.

'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहार

बता दें कि पेपर की कॉपियों का हाल पिछले साल भी ऐसा ही था. पिछले साल भी एक कॉपी में लिखा था ‘मैं पूजा से प्यार करता हूं… ये मोहब्बत भी क्या चीज है… ना जीने देती है और ना ही मरने… सर इस लव स्टोरी ने पढ़ाई से दूर कर दिया वर्ना…’

'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहार

बता दें कि पेपर की कॉपियों का हाल पिछले साल भी ऐसा ही था. पिछले साल भी एक कॉपी में लिखा था ‘मैं पूजा से प्यार करता हूं… ये मोहब्बत भी क्या चीज है… ना जीने देती है और ना ही मरने… सर इस लव स्टोरी ने पढ़ाई से दूर कर दिया वर्ना…’

साल 2019 का सबसे हिट गाना बना फिल्म गली ब्वॉय का ‘अपना टाइम आएगा’

'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहार

एक कॉपी में लिखा था- ‘गुरुजी को कॉपी खोलने से पहले नमस्कार… गुरुजी पास कर दें. चिट्ठी तू जा सर के पास, सर की मर्जी फेल करें या पास…’

'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहार

एक जवाब में लिखा था- ‘हाथ जोड़कर मैं आपके निवेदन करता हूं कि मुझे माफ कर दें. मैं गरीब परिवार से हूं और कपड़ों की सिलाई करके मैंने पैसे कमाए हैं. मेरे पास पढ़ने के लिए किताबें भी नहीं थीं. मुझे दूसरों की किताबों से पढ़ना पड़ता था. आपसे निवेदन की आप मुझे पास कर दें.’

'पाक से बदला लेना है, इसलिए पास कर दो', बच्चों की टीचर से गुहार

एक कॉपी में लिखा था- ‘मैं एक गरीब परिवार से हूं और बहुत पहले मेरे पिता का निधन हो गया था. मुझे काम करना पड़ता था और अपने भाई-बहनों का ध्यान रखना पड़ा. मैं आपसे मुझे पास करने के लिए निवेदन करता हूं. ये मेरे और मेरे परिवार बहुत बड़ा अहसान होगा.’

 

वहीं हाल ही में एक मामला सामने आया था, जहां बच्चों ने उत्तर पुस्तिकाओं में नोट रखे हुए थे. कई कॉपियों में 500 रुपये के नोट भी मिले थे. यह घटना फिरोजाबाद की है. साथ ही कई कॉपियों में सुसाइड की धमकी भी दी गई थी और कई पुस्तिकाओं में बच्चों ने गाने या कई अन्य नोट लिखे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...