World Cup: जानिए कितने बजे होगा टीम इंडिया का ऐलान

0
103

 30 मई से आईसीसी विश्व कप का आगाज होना है। आईसीसी विश्व कप के लिए आज टीम इंडिया का चयन भी हो जाएगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की सिलेक्शन कमिटी आज दोपहर 3:30 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया का ऐलान करेगी।

भारत को विश्व कप में अपना पहला मैच 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेलना है। प्रेस कॉन्फ्रेंस का टेलिकास्ट स्टार स्पोर्ट्स पर होगा। कप्तान विराट कोहली पहले ही कह चुके हैं कि काफी कुछ पहले से तय है, किस खिलाड़ी को किस नंबर खेलना है यह भी लगभग तय है। केवल एक या दो स्पॉट पर जगह बची है। चयन समिति के प्रमुख एमएसके प्रसाद और कप्तान कोहली यह भी कह कह चुके हैं कि आईपीएल की परफॉर्मेंस का चयन पर कोई असर नहीं होगा। यहां हम बता रहे हैं कि किन 15 खिलाड़ियों को टीम में जगह मिल सकती है।

ओपनर

रोहित शर्माः भारत के विश्व कप जीतने की संभावनाओं पर बात करें तो यह मूल रूप से टॉप आर्डर पर निर्भर करेगा। रोहित शर्मा इसकी मुख्य कड़ी हैं। इंग्लैंड में उनका रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है।

शिखर धवनः बाएं हाथ के शिखर धवन ने आखिर आईपीएल में अपनी खोयी फॉर्म हासिल कर ली। वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्व कप के अपने पहले मैच में उम्दा प्रदर्शन कर सकते हैं। धवन को वैसे भी आईसीसी टूर्नामेंट खासे रास आते हैं। रोहित के साथ उनकी साझेदारी भारत के लिए उपयोगी होगी।

केएल राहुलः तमाम परेशानियों और अनियमितताओं के चलते इसमें कोई संदेह नहीं है कि केएल राहुल एक बेहतरीन बल्लेबाज हैं। चयनकर्ता उन्हें बैक अप ओपनर के लिए चुन सकते हैं। आईपीएल में उनकी जबरदस्त फार्म दिखाई पड़ रही है। उन्हें टॉप ऑर्डर पर या नंबर 4 पर प्लेइंग इलेवन में खिलाया जा सकता है।

आज है कामदा एकादशी, जानिए क्या है इस व्रत की कथा और विधान

मिडिल ऑर्डर+ विकेटकीपर

विराट कोहलीः इस बात की खबरें है कि विराट कोहली नंबर चार पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। ऐसा मध्यक्रम को मजबूती देने के लिए किया जा सकता है। लेकिन कोहली का कहना है कि वह नंबर तीन पर ही खेलेंगे। वह किसी भी स्थिति में 3 नंबर के दुनिया के बेस्ट खिलाड़ी हैं।

अंबाती रायडूः दाएं हाथ के इस बल्लेबाज को विराट का समर्थन हासिल है। रायडू को नंबर चार पर खिलाया जा सकता है। हालांकि, रायडू की समस्या यह है कि उनमें कंसीस्टेंसी नहीं है। लेकिन चयनकर्ता इसके बावजूद नंबर 4 के लिए उन पर भरोसा कर सकते हैं।

महेंद्र सिंह धौनी: टीम इंडिया के पूर्व कप्तान विकेट कीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धौनी, कोहली के लिए आज भी सबसे उपयोगी खिलाड़ी हैं। वह विश्व कप में मिडिल ऑर्डर को मजबूती देंगे और अच्छे फिनिशर की भूमिका निभाएंगे। इसके साथ ही वह विकेट के पीछे गेंदबाजों की मदद भी करते हैं।

दिनेश कार्तिकः कार्तिक अच्छे बल्लेबाज और विकेट कीपर हैं। वह मिडिल ऑर्डर को मजबूती दे सकते हैं। तकनीक के साथ-साथ उनके पास आक्रामकता भी है। वह वैकल्पिक विकेटकीपर हो सकते हैं। हालांकि, ऋषभ पंत के नाम को लेकर भी चर्चा जोरों पर है।

ऑलराउंडर

हार्दिक पांड्याः बेशक आईपीएल की परफॉर्मेंस चयन का आधार न हो, लेकिन टीम प्रबंधन और चयनकर्ता हार्दिक पांड्या के आईपीएल प्रदर्शन से खुश होंगे। हार्दिक ने आईपीएल में जबरदस्त आक्रामकता का परिचय दिया है। लेकिन पांड्या को अपनी गेंदबाजी में सुधार की जरूरत है। खासतौर पर इंग्लैंड की पिचों के लिए।

विजय शंकरः विजय शंकर ने पिछले कुछ समय में शानदार प्रदर्शन किया है। अनेक मौकों पर उसने दिखाया है कि वह आक्रामक बल्लेबाजी कर सकते हैं। वह गेंदबाजी में भी बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं। चयनकर्ताओं की नजर अवश्य ही उन पर भी होगी। वह टीम के दूसरे ऑलराउंडर हो सकते हैं।

आजम खान को जयाप्रदा ने दिया मुँह तोड़ जवाब

स्पिन गेंदबाज

कुलदीप यादवः कुलदीप के लिए आईपीएल अच्छा नहीं रहा है। और यह भी सच है कि लिमिटेड ओवरों में उनकी क्षमताओं पर हमेशा से ही संदेह रहा है। लेकिन कोहली उन्हें विकेट लेने वाला गेंदबाज मानते हैं। उनकी रिस्ट गेंदबाजी टीम के लिए खासी फायदेमंद हो सकती है।

युजवेंद्र चहलः चहल आरसीबी के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। वह साहसी गेंदबाज हैं। विश्व कप में वह भारत के ट्रंप कार्ड होंगे। कुलदीप के साथ उनकी गेंदबाजी और भी शार्प हो सकती है। विश्व कप में इन दोनों गेंदबाजों की परफोर्मेंस पर बहुत कुछ निर्भर करेगा।

रवींद्र जडेजाः तीसरे स्पिनर के रूप में रवींद्र जडेजा को चुना जा सकता है। बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा के पास वैरिएशन है और वह विकेट लेने में भी सक्षम हैं। साथ ही वह बल्लेबाजी भी कर सकते हैं। और उनकी शानदार फील्डिंग से सब प्रभावित हैं।

तेज गेंदबाज

जसप्रीत बुमराहः बुमराह विराट कोहली के लिए एक्स फैक्टर हैं। भारतीय टीम के लिए बुमराह सबसे अहम खिलाड़ी हैं। नई गेंद से तो वह उम्दा गेंदबाजी करते ही हैं लेकिन डेथ ओवरों में उन्हें खेलना काफी मुश्किल होता है।

मोहम्मद शमीः विराट कोहली ने हमेशा ही मोहम्मद शमी की तारीफ की है। आखिरकार यह तेज गेंदबाज वनडे में बेहद प्रभावशाली होते गए हैं। ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया। भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के साथ वह भारतीय गेंदबाजी में नई धार पैदा कर सकते हैं।

भुवनेश्वर कुमारः टीम इंडिया के साथ लंबे समय से जुड़े भुवनेश्वर कुमार शानदार गेंदबाज हैं। वह गेंद को स्विंग कराते हैं और यॉर्कर डालते हैं। डेथ ओवरों में वह बहुत बढ़िया गेंदबाजी करते हैं।

बिहार : पत्रकार के बेटे की हत्या, तालाब के पास मिला शव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

loading...