Facebool
Twitter
Youtube

​भारत में कोरोना वायरस में कोई बड़ा परिवर्तन नहीं, पीएमओ ने की पुष्टि

  • Mahanagartimes
  • 17 October, 2020

देश

भारत में कोरोना वायरस में कोई बड़ा परिवर्तन नहीं हुआ है। इस बात की पुष्टि शनिवार को प्रधानमंत्री कार्यालय ने की है। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को देश में कोरोना महामारी की स्थिति और वैक्सीन की तैयारियों की समीक्षा बेठक की। पीएम नरेंद्र मोदी के साथ इस बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, सदस्य (स्वास्थ्य) नीति आयोग और भारत सरकार के अन्य विभागों के अधिकारी शामिल थे। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमें वैक्सीन को सिर्फ पड़ोसी देशों तक ही सीमित नहीं रखना है बल्कि इसे पूरी दुनिया में पहुंचाना है। उन्होंने कहा कि वैक्सीन वितरण प्रणाली को और मजबूत करने के लिए हमें पूरे दुनिया में आईटी प्लेटफॉर्म पर जोर देना होगा। बैठक में प्रधानमंत्री ने चुनाव आयोजन की तरह टीका वितरण की ऐसी प्रणाली विकसित करने का सुझाव दिया जिसमें सरकारी और नागरिक समूहों के प्रत्येक स्तर की भागीदारी हो। बैठक की अध्यक्षता करते हुए पीएम मोदी ने प्रतिदिन के मामलों और वृद्धि दर में लगातार गिरावट का उल्लेख किया। पीएम मोदी ने त्यौहारों के दौरान सामाजिक दूरी, कोरोना दिशा-निर्देशों का पालन करने और आत्मसंयम बरतने की अपील की। पीएम ने आगे निर्देश दिया कि देश के सभी कोनों और वहां स्थितियों को देखते हुए वैक्सीन की पहुंच तेजी से पहुंचाई जानी चाहिए। पीएम ने जोर देकर कहा कि लॉजिस्टिक्स, डिलीवरी और एडमिनिस्ट्रेशन में हर कदम को सख्ती से लागू किया जाना चाहिए। इस बैठक के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि भारत में तीन टीके विकसित होने के उन्नत चरणों में है, जिनमें से दो टीके चरण-2 और एक टीका तीसरे चरण में। पीएमओ ने आगे बताया कि कोरोना वायरस जीनोम पर दो अखिल भारतीय अध्ययनों से पता चला है कि वायरस आनुवंशिक रूप से स्थिर है, इसमें कोई बड़ा परिवर्तन नहीं हुआ है। कुछ विशेषज्ञों ने चिंता जताई है कि कोरोना वायरस के स्वरूप में बड़ा बदलाव होने से इसका प्रभावी टीका बनाने में बाधा पैदा हो सकती है। हालांकि, कुछ हालिया वैश्विक अध्ययनों में सामने आया है कि वायरस के स्वरूप में आने वाले हालिया बदलावों से कोरोना के लिए इस समय विकसित किए जा रहे टीकों पर कोई असर नहीं पड़ना चाहिए।