अमेरिका में ही रहेगा टिकटॉक का वैश्विक मुख्यालय, ट्रंप के आदेश से बचने के लिए लिया फैसला

चीन की बाइटडांस ने अपने लोकप्रिय मोबाइल एप्लीकेशन टिकटॉक का वैश्विक मुख्यालय अमेरिका में स्थापित करने का निर्णय किया है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के इस एप पर रोक लगाने के आदेश से बचने के लिए कंपनी ने यह रास्ता निकाला है। चीन के सरकारी सीजीटीएन टीवी ने बुधवार को एक रिपोर्ट में कहा कि बाइटडांस की अमेरिकी अधिकारियों के सामने पेश योजना के मुताबिक टिकटॉक अमेरिका में मुख्यालय वाली नई कंपनी में बहुलांश हिस्सेदार रहेगी। वहीं प्रौद्योगिकी कंपनी ओरेकल इसमें अल्पांश हिस्सेदार होगी। कंपनी में वालमार्ट अन्य अल्पांश हिस्सेदार होगी। वैश्विक खुदरा कंपनी वालमार्ट ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर टिकटॉक में हिस्सेदारी खरीदने की पेशकश की थी। हालांकि, इस योजना की रूपरेखा में बदलाव होने की भी संभावना है। स्वतंत्र तीसरे पक्ष के लोग नई कंपनी के निदेशक होंगे। वहीं बाइटडांस के पास टिकटॉक और उसकी मूल एल्गोरिदम का नियंत्रण बना रहेगा। अमेरिकी यूजर्स के डाटा की सुरक्षा को लेकर ट्रंप सरकार की चिंताओं को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने यह फैसला लिया है। ट्रंप सरकार ने टिकटॉक को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा करार दिया है। ट्रंप ने छह अगस्त को एक कार्यकारी आदेश जारी कर टिकटॉक के सामने अपने अमेरिकी कारोबार को 20 सितंबर तक बंद करने या किसी अमेरिकी कंपनी को बेचने की समयसीमा रखी थी। भारत ने भी राष्ट्रीय सुरक्षा और संप्रभुता के लिए खतरा बताते हुए 29 जून को टिकटॉक समेत 47 चीनी एप पर रोक लगा दी थी। 28 जुलाई को भारत ने एक बार फिर 59 एप प्रतिबंधित किए थे। दो सितंबर को भारत ने पबजी समेत 118 एप पर प्रतिबंध लगाया था।