नई दिल्ली : भारत में मनी लॉन्ड्रिंग मामले में नीरव मोदी की पत्नी के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन (इंटरपोल) ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया है। धोखाधड़ी के आरोप में भारत से भाग चुके नीरव मोदी की पत्नी पर भारत में मनी-लॉन्ड्रिंग के मामले दर्ज हैं। इंटरपोल ने नीरव मोदी और उसके भाई नेहल और बहन पूर्वी के खिलाफ भी नोटिस जारी किया है। इंटरपोल का रेड कॉर्नर नोटिस एक तरीके से अंतरराष्ट्रीय गिरफ्तारी का काम करता है, इसके बाद अब प्रत्यर्पण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

नीरव मोदी (फाइल फोटो)

बता दें कि इससे पहले जुलाई के महीने में भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी की ब्रिटेन में न्यायिक हिरासत छह अगस्त तक बढ़ा दी गई थी। मोदी पर यहां भारत को प्रत्यर्पण किए जाने के मामले की सुनवाई चल रही है। छह अगस्त को ब्रिटेन की एक अदालत के समक्ष वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से नीरव को पेश किया गया था। इसके बाद फिर नीरव मोदी की हिरासत अवधि 27 अगस्त तक बढ़ा दी गई। पिछले वर्ष मार्च में गिरफ्तारी के बाद से ही 49 वर्षीय हीरा व्यवसायी दक्षिण-पश्चिम लंदन की वांड्सवर्थ जेल में बंद है।
गौरतलब है कि मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी को अंजाम दिया है। इसे लेकर भारत में विभिन्न जांच एजेंसियों ने उनके खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। इस मामले में मोदी के सहयोगी मेहुल चौकसी भी भारत में वांछित हैं नीरव के प्रत्यपर्ण मामले में दूसरे दौर की सुनवाई सितंबर से शुरू होनी है। इस मामले में पहले चरण की चार दिन की सुनवाई जिला न्यायाधीश सैमुअल गूजे की अध्यक्षता में मई में हुई थी। बाद में लॉकडाउन के चलते उनकी दूसरे दौर की पांच दिन की सुनवाई सात सितंबर से होना तय किया गया है।