पाकिस्तानी गोलाबारी में जवान शहीद, मेजर समेत दो घायल, जवाबी कार्रवाई में तीन सैनिक ढेर

जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी गोलाबारी में मंगलवार को एक जवान शहीद हो गया, जबकि मेजर समेत दो जवान घायल हो गए। जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान को भारी नुकसान उठाना पड़ा। उसके तीन सैनिक मारे गए, दो चौकियां तथा संचार टावर ध्वस्त हो गए। कम से कम पांच सैनिक भी घायल हैं। इसके साथ ही आईबी व एलओसी से घुसपैठ की तीन कोशिशों को नाकाम करते हुए सुरक्षाबलों ने एक घुसपैठिए को ढेर कर दिया। हथियारों का जखीरा भी बरामद किया गया है। इन घटनाओं के बाद आईबी व एलओसी पर सतर्कता और बढ़ा दी गई है। एलओसी पर राजोरी जिले के सुंदरबनी सेक्टर के माला में पाकिस्तानी सेना की ओर से मंगलवार देर शाम को सेना की चौकियों को निशाने बनाते हुए गोलाबारी की गई। इसमें सेना की 17 मद्रास रेजीमेंट के मेजर, हवलदार सहित तीन जवान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें अखनूर स्थित सेना के अस्पताल में एयरलिफ्ट कर पहुंचाया गया, जहां एक जवान ने दम तोड़ दिया। सेना ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया। इसमें उसके तीन सैनिक मारे गए और दो चौकियां तबाह हो गईं। संचार टावर ध्वस्त हो गया। पांच सैनिकों के घायल होने की भी सूचना है। देर रात तक दोनों ओर से गोलाबारी जारी रही। वहीं, एलओसी पर पलांवाला सेक्टर के केरी तथा बट्टल में मंगलवार की दोपहर पाकिस्तानी सेना ने गोलाबारी करते हुए संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इसका सेना की तरफ से भी मुंहतोड़ जवाब दिया गया। सेना की कार्रवाई के बाद 2.45 बजे पाकिस्तान ने गोलाबारी बंद कर दी। किसी भी तरह के नुकसान का समाचार नहीं है। दूसरी ओर उत्तरी कश्मीर के सीमावर्ती जिले बारामुला के उड़ी सेक्टर में मंगलवार को दोपहर करीब सवा दो बजे दुलनजा में एलओसी के करीब स्थित बीएसएफ की 70वीं बटालियन की निगरानी वाली फ ॉरवर्ड पोस्ट पर संतरी को फेंस के उस पार एक व्यक्ति की संदिग्ध हरकत देखने को मिली। संतरी ने उस शख्स को ललकारा तो वह पेड़ के पीछे छिप गया। उसे सामने आने को कहा गया, वह फेंस के करीब आया और इस पार कुछ दस्तावेज फेंक दिए। जब उसे तलाशी के लिए कपड़े उतारने को कहा गया तो वह भाग खड़ा हुआ। कई चेतावनियों के बाद भी वह नहीं रुका तो फायरिंग की गई।गोली लगने से वह जमीन पर गिर पड़ा। पुलिस ने बताया कि उसके द्वारा फेंके गए दस्तावेजों की जांच की जा रही है। साथ ही उस व्यक्ति की शिनाख्त की भी कोशिश की जा रही है। साथ ही बांदीपोरा जिले में गुरेज सेक्टर में भी 14 सितंबर को घुसपैठ की कोशिश को नाकाम बनाया गया। घुसपैठ कर रहे आतंकी जवानों की गोलीबारी के बाद भाग निकले। मंगलवार को चलाए गए सर्च ऑपरेशन में चार मैगजीन व 135 गोलियों के साथ एक राइफल, तीन पिस्टल (पांच मैगजीन व 120 गोलियां),एक जीपीएस, वायर कटर व चार बैग बरामद किए गए।